बेहतरीन लव शायरी इन हिंदी - शायरी लव रोमांटिक - हिंदी शायरी दो लाइन

आज मैं आपके लिए लाया हूँ बड़े शायरों द्वारा लिखी गई प्यार, मोहब्बत से जुड़ी कुछ बेहतरीन शायरी का कलेक्शन। मुझे उम्मीद है यहाँ दी गई शायरी आपके दिल को छू जाएँगी।

2 line love shayari in hindi
इक रोज खेल खेल में हम उस के हो गए
और फिर तमाम उम्र किसी के नहीं हुए
- (विपुल कुमार)
हम ने सीने से लगाया दिल न अपना बन सका
मुस्कुरा कर तुम ने देखा दिल तुम्हारा हो गया
- (जिगर मुरादाबादी)
तुम को आता है प्यार पर ग़ुस्सा
मुझ को ग़ुस्से पे प्यार आता है
- (अमीर मीनाई)
जब भी आता है मिरा नाम तिरे नाम के साथ
जाने क्यूँ लोग मिरे नाम से जल जाते हैं
- (क़तील शिफ़ाई)
उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
न जाने किस गली में जिंदगी की शाम हो जाए
- (बशीर बद्र)
अच्छा ख़ासा बैठे बैठे गुम हो जाता हूँ
अब मैं अक्सर मैं नहीं रहता तुम हो जाता हूँ
- (अनवर शऊर)
होश वालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज है
इश्क कीजे फिर समझिए जिंदगी क्या चीज है
- (निदा फाजली)
आरज़ू है कि तू यहाँ आए
और फिर उम्र भर न जाए कहीं
- (नासिर काज़मी)
आते जाते हैं कई रंग मेरे चेहरे पर,
लोग लेते हैं मजा ज़िक्र तुम्हारा कर के।
- (राहत इंदौरी)
और क्या देखने को बाक़ी है
आप से दिल लगा के देख लिया
- (फ़ैज़ अहमद फ़ैज़)
और भी दुख हैं ज़माने में मोहब्बत के सिवा
राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा
- (फ़ैज़ अहमद फ़ैज़)
दिल धड़कने का सबब याद आया
वो तिरी याद थी अब याद आया
- (नासिर काज़मी)

हिंदी शायरी दो लाइन

फ़ासले ऐसे भी होंगे ये कभी सोचा न था
सामने बैठा था मेरे और वो मेरा न था
- (अदीम हाशमी)
शहर वालों की मोहब्बत का मैं कायल हूं मगर
मैंने जिस हाथ को चूमा वही खंजर निकला
- (अहमद फराज)
रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिए आ
- (अहमद फराज)
हम अभी तक हैं गिरफ़्तार-ए-मुहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि सम्भल जाते हैं।
- (बशीर बद्र)
आप दौलत के तराज़ू में दिलों को तौलें
हम मोहब्बत से मोहब्बत का सिला देते हैं
- (साहिर लुधियानवी)
मुझसे बिछड़ के ख़ुश रहते हो,
मेरी तरह तुम भी झूठे हो।
- (बशीर बद्र)
मोहब्बत की तो कोई हद, कोई सरहद नहीं होती
हमारे दरमियां ये फासले, कैसे निकल आए
- (खालिद मोईन)
कुछ तो मजबूरियां रही होंगी,
यूं कोई बेवफ़ा नहीं होता।
- (बशीर बद्र)
इश्क की चोट का कुछ दिल पे असर हो तो सही
दर्द कम हो या ज्यादा हो मगर हो तो सही
- (जलाल लखनवी)
उस को जुदा हुए भी ज़माना बहुत हुआ
अब क्या कहें ये क़िस्सा पुराना बहुत हुआ
- (अहमद फ़राज़)
कभी हम भी इस के क़रीब थे, दिलो जान से बढ़ कर अज़ीज थे,
मगर आज ऐसे मिला है वो, कभी पहले जैसे मिला ना हो।
- (बशीर बद्र)
तेरी हर बात मोहब्बत में गँवारा करके,
दिल के बाज़ार में बैठे हैं खसारा करके,
मैं वो दरिया हूँ कि हर बूंद भंवर है जिसकी,
तुमने अच्छा ही किया मुझसे किनारा करके।
- (राहत इंदौरी)
आप के बा'द हर घड़ी हम ने
आप के साथ ही गुज़ारी है
- (गुलज़ार)
मिलना था इत्तिफ़ाक़ बिछड़ना नसीब था
वो उतनी दूर हो गया जितना क़रीब था
- (अंजुम रहबर)
प्यार भरी शायरी दो लाइन शायरी का ये कलेक्शन आपको कैसा लगा, हमें कमेंट करके जरूर बताएं। उम्मीद है ये पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी। अगर ये बेहतरीन लव शायरी इन हिंदी आपको अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

ये भी देखें -

Post a Comment