दिल्ली और एनसीआर की पुलिस के साथ किसानों की हुई बैठक में पुलिस ने Republic Day पर किसानों की ट्रैक्टर रैली निकालने की बात मान ली है। संयुक्त किसान मोर्चा के मुताबिक किसानो की तरफ से निकलने वाली यह ट्रैक्टर परेड ऐतिहासिक होगी और दिल्ली तक आये लगभग सभी ट्रैक्टरों को इस परेड में शामिल किया जाएगा। ख़बरों के मुताबिक जो भी किसान अलग-अलग शहरों से ट्रैक्टर लेकर पहुंच रहे हैं, उन सभी को इस ट्रैक्टर परेड में शामिल होने दिया जाएगा। यह मार्च बिलकुल शांतिपूर्ण तरीके से निकाला जायेगा। 

हजारों किसान राष्ट्रीय राजधानी की अलग अलग सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। इनमें अधिकतर पंजाब और हरियाणा से हैं। किसानों की मांग है कि तीनों विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त किया जाए। इसी बीच यह खबर भी आ रही है की गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों द्वारा एक ऐतिहासिक ट्रैक्टर परेड निकाली जाएगी। किसान नेताओं का यह दावा है कि दिल्ली पुलिस ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहीं किसान यूनियनों को रिपब्लिक डे पर राष्ट्रीय राजधानी में ट्रैक्टर परेड निकालने की अनुमति दे दी है। 

दो लाख से ज्यादा ट्रैक्टर होंगे शामिल

प्रदर्शन कर रहे किसान यूनियनों के मुताबिक इस परेड में लगभग दो लाख से अधिक ट्रैक्टरों के शामिल होने की उम्मीद बताई जा रही है और रैली के करीब पांच मार्ग होंगे। दिल्ली के राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड समाप्त होने के बाद दोपहर 12 बजे ट्रैक्टर परेड निकाली जाएगी। 

किसानों को रिपब्लिक डे पर ट्रैक्टर परेड निकालने की मिली परमीशन


दिल्ली और एनसीआर की पुलिस के साथ किसानों की हुई बैठक में पुलिस ने Republic Day पर किसानों की ट्रैक्टर रैली निकालने की बात मान ली है। संयुक्त किसान मोर्चा के मुताबिक किसानो की तरफ से निकलने वाली यह ट्रैक्टर परेड ऐतिहासिक होगी और दिल्ली तक आये लगभग सभी ट्रैक्टरों को इस परेड में शामिल किया जाएगा। ख़बरों के मुताबिक जो भी किसान अलग-अलग शहरों से ट्रैक्टर लेकर पहुंच रहे हैं, उन सभी को इस ट्रैक्टर परेड में शामिल होने दिया जाएगा। यह मार्च बिलकुल शांतिपूर्ण तरीके से निकाला जायेगा। 

हजारों किसान राष्ट्रीय राजधानी की अलग अलग सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। इनमें अधिकतर पंजाब और हरियाणा से हैं। किसानों की मांग है कि तीनों विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त किया जाए। इसी बीच यह खबर भी आ रही है की गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों द्वारा एक ऐतिहासिक ट्रैक्टर परेड निकाली जाएगी। किसान नेताओं का यह दावा है कि दिल्ली पुलिस ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहीं किसान यूनियनों को रिपब्लिक डे पर राष्ट्रीय राजधानी में ट्रैक्टर परेड निकालने की अनुमति दे दी है। 

दो लाख से ज्यादा ट्रैक्टर होंगे शामिल

प्रदर्शन कर रहे किसान यूनियनों के मुताबिक इस परेड में लगभग दो लाख से अधिक ट्रैक्टरों के शामिल होने की उम्मीद बताई जा रही है और रैली के करीब पांच मार्ग होंगे। दिल्ली के राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड समाप्त होने के बाद दोपहर 12 बजे ट्रैक्टर परेड निकाली जाएगी। 

No comments